India on AIRSPACE denial to PM Pak will realise folly of its actions

On the refusal to open airspace for Modi, India said- Hopefully Pakistan will realize its stupidity

दिल्ली: मोदी के लिए एयरस्पेस खोलने से इनकार पर भारत ने कहा- उम्मीद है पाकिस्तान को अपनी मूर्खता का एहसास होगा

  • Prime Minister Narendra Modi is going to America on Friday to attend the United Nations, General Assembly.
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाग लेने शुक्रवार को अमेरिका जाने वाले हैं

 

  • India had requested Pakistan to open its airspace for travel to America.
  • भारत ने अमेरिका के यात्रा के लिए पाकिस्तान से अपना एयरस्पेस खोलने का आग्रह किया था

 

New Delhi Report: Prime Minister Narendra Modi is scheduled to fly to the US on Friday to attend the United Nations, General Assembly. India had urged Pakistan to open airspace regarding Modi’s visit. However, Pakistan denied this. On this, India said on Thursday that it is expected that it will realize its stupidity.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाग लेने शुक्रवार को अमेरिका जाने वाले हैं। भारत ने मोदी की यात्रा को लेकर पाकिस्तान से एयरस्पेस खोलने का आग्रह किया था। लेकिन, पाक ने इससे इनकार कर दिया। इस पर भारत ने गुरुवार को कहा कि उम्मीद है उसे अपनी मूर्खता का एहसास होगा।

 

Pakistan on Wednesday rejected India’s request citing the current situation in Kashmir. Earlier, Pakistan did not allow President Ram Nath Kovind’s aircraft to pass through its airspace. Pakistan Foreign Minister Shah Mehmood Qureshi had also said on September 7 that considering the current situation in Kashmir, we have decided to shut down the airspace.

पाकिस्तान ने कश्मीर में मौजूदा स्थिति का हवाला देते हुए बुधवार को भारत के आग्रह को खारिज कर दिया था। इससे पहले पाक ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के विमान को अपने हवाई क्षेत्र से गुजरने की अनुमति नहीं दी थी। पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने 7 सितंबर को भी कहा था कि कश्मीर के मौजूदा हालात पर गौर करते हुए हमने एयरस्पेस बंद करने का निर्णय लिया है।

 

Foreign Secretary Vijay Gokhale said that this is an unfortunate situation where one country refuses to let the head of the government of another country go it’s away. We have made our position very clear. They will surely realize their stupidity.

विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है, जहां एक देश किसी अन्य देश की सरकार के प्रमुख को अपने रास्ते जाने देने से इनकार करता है। हमने अपनी स्थिति बेहद स्पष्ट कर दी है। उन्हें जरूर अपनी मूर्खता का एहसास होगा।

 

“Consider taking this issue to the international stage”

Asked if India would raise the issue on a global platform like the International Civil Aviation Organization. To this Gokhale said that as far as going to any international organization is concerned, we will look into it. There is no intention to do so yet. But if they violate ICAO rules, we might consider it.

‘इस मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय मंच पर ले जाने पर विचार कर सकते हैं’

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन जैसे वैश्विक मंच पर इस मुद्दे को उठाएगा। इस पर गोखले ने कहा कि जहां तक किसी भी अंतरराष्ट्रीय संगठन में जाने का सवाल है, हम उस पर गौर करेंगे। अभी तक ऐसा करने का कोई इरादा नहीं है। लेकिन अगर वे आईसीएओ के नियमों का उल्लंघन करते हैं, तो हो सकता है, हम इस पर विचार करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *